1 minutes read

ख्यालों के बवंडर में
गुम हुए अलफ़ाज़
यादों के समंदर में
डूब गए एहसास

— पुखी उर्फ़ पाखी